Education

‘बेटियां है समाज की आधार शिला’

सच का उजाला नेटवर्क
आगरा। राज्यमंत्री समाज कल्याण, अनुसूचित जाति, जनजाति कल्याण गुलाब देवी ने लाडो संस्था द्वारा माथुर-वैश्व भवन में आयोजित कार्यक्रम बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं की अध्यक्षता करते हुए कहा कि इतना लम्बा समय आजादी प्राप्त किये हो गया है, फिर भी बेटी बचाओं अभियान चलाने की जरूरत पड़ी है।
समाज में बेटियों को, बेटों के समान अधिकार प्राप्त नहीं है, जो मिलना चाहिए। समाज कल्याण राज्य मंत्री ने कहा कि मानव भगवान की सर्वश्रेष्ठ कृति है। भगवान ने स्त्री को समता, दया, धर्म, मयार्दा, शील व लज्जा का आभूषण देकर सजाया है। बेटियां समाज का आधार है। हमारी कन्या वह शक्ति है, जिसे सभी ने नमन किया है। उन्होंने बेटियो से कहा कि आप लोग यह मत सोचे कि समाज क्या कहेगा, लोग क्या कहेंगे, आप अपना लक्ष्य तय करों और अपने लक्ष्य प्राप्त करों। जिससे समाज की निगाहे इस ओर जाये कि इस बेटी ने अपने संघर्ष, लगन व मेहनत से अपने परिवार समाज व देश का नाम रोशन की है। उन्होंने कहा कि हमारी बेटियों ने सभी क्षेत्र में, चाहे खेल हो सेना, राजनीति, संगीत, उद्योग, व्यवसाव हर क्षेत्रों में हम सभी को गौरवान्वित किया है। उन्होंने कहा कि बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं अभियान का लक्ष्य बेटियां सुरक्षित रहे, पढ़ाई करें जिससे उनके व्यक्तित्व का विकास हो सके और परिवार, समाज व देश की विकास में बेटियां भागीदारी कर सकें।


मंत्री ने बताया कि वह एक बेहद गरीब परिवार में पैदा हुईं। उनके पिता प्रेस करते थे। लेकिन उनके पिता ने अभाव में भी उन्हें अच्छी शिक्षा दिलाई और इस बदौलत वह देश के सबसे बड़े सूबे में मंत्री हैं। मंत्री ने कहा कि बेटियों को कौन क्या कहेगा इसकी परवाह नहीं करनी चाहिए। दृढ़ निश्चय के साथ अपने उद्देश्य की तरफ बढ़ना चाहिए। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ब्रज क्षेत्र संगठन मंत्री भवानी सिंह ने कहा कि नारी शक्ति ही देश और समाज को रास्ता दिखाती है। भवानी सिंह ने कहा कि एक पुरुष एक परिवार को रास्ता दिखात है वहीं एक महिला दो परिवारों की जिम्मेदारी उठाते हुए आनी वाली पीढ़ी को भी संस्कार देती है। उन्होंने कहा कि वो मां ही है जिसने वीर शिवाजी, माहाराणा प्राताप जैसे योद्धा जन्मे। उन्होंने कार्यक्रम के आयोजक अंबुज द्विवेदी और उनकी युवा टीम की सराहना करते हुए कहा कि इस उम्र में युवाओं ने जो उद्देश्य बनाया है वह अनुकरणीय है।
कार्यक्रम को संबोधित करते मानसिक स्वास्थ्य संस्थान के अधीक्षक डॉक्टर दिनेश राठौर ने कहा कि मां-बहन और बेटियां संयुक्त परिवार का आधार होती हैं। आज के समय में समाज-परिवार और करियर को लेकर बहनों पर दोहरी जिम्मेदारी है। उन्हें अधिक आजादी और स्वच्छदंता की जरूरत है। ऐसे में हम सब का दायित्व बनता है कि बेटियों को सुरक्षित और सम्मानपूर्ण माहौल दें। ऐसा होने से देश और समाज में तनाव के कारण अपना उद्देश्य कोई भी बेटी या बहन अधूरा नहीं छोड़ेगी और देश को नई दिशा मिलेगा। कार्यक्रम के दौरान कवियित्री रुचि चतुर्वेदी की कविताएं सुन पूरा पंडाल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा।
बता दें कि लाडो अभियान के तहत अंबुज द्विवेदी और उनकी टीम लगातार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश दे रही है। कार्यक्रम के आयोजक अंबुज द्विवेदी ने सभी अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस दौरान भाजपा शहर अध्यक्ष विजय शिवहरे, सुमित शुक्ला, तेजवीर सिंह, ललित शर्मा, मंजेश चौहान, हेमा रावत, अजय शर्मा, राहुल भूकेश, जगदीश सिंह, राहुल चौधरी, संदीप उपाध्याय आदि उपस्थित रहे।

About the author

amit tomer

Add Comment

Click here to post a comment




Trending