क्राइम

कालिंदी विहार में बदमाशो ने सिपाही को गोली मारी, मौत

सच का उजाला नेटवर्क
आगरा। एत्माउद्दोला थानाक्षेत्र में शनिवार सुबह करीब 4 बजे बाइक सवार बदमाशों ने पीछा कर रही चीता मोबाइल एक सिपाही को गोली मार दी जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस एक व्यक्ति से हिरासत मे लेकर पूछताछ कर रही है।
बता दें कि थाना एत्माउद्दोला के तहत फाउंड्रीनगर चौकी पर तैनात दो सिपाही सतीश चंद्र यादव निवासी अलीगढ़ और कुलदीप सिंह चौहान निवासी मैनपुरी बीती रात चीता मोबाइल पर गश्त दे रहे थे। सुबह चार बजे कालिंदी विहार में सौ फुटा रोड पर उन्हें चार लोग दो बाइकों पर जाते दिखे, जिनके हाथ में सब्बल था। संदिग्ध प्रतीत होने पर चीता मोबाइल से बाइक का पीछा किया। इसी दौरान एक बाइक फिसल गई। और उस पर सवार दो बदमाश गिर गए। गिरने के बाद एक बदमाश ने अपनी पिस्टल निकाली, लेकिन सतीश चंद्र यादव ने तत्परता दिखाते हुए उसे दबोच लिया। और कुलदीप ने उसकी पिस्टल छीन ली। इसी दौरान दूसरे बदमाश ने अपनी पिस्टल से गोली चला दी। गोली सतीश के पेट और जबड़े में लगी। कुलदीप सतीश को संभालने में लग गया, इतनी देर में अपनी बाइक वहीं छोड़कर भाग निकले। सूचना पर एसपी सिटी कुंवर अनुपम सिंह मौके पर पहुंचे। सतीश को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

बीती रात चोरी हुई थी बाइक, पूछताछ
जानकारी के मुताबिक, बदमाश जो बाइक छोड़कर गए थे, वह कालिंदी विहार में रहने वाले ज्ञानेंद्र सिंह चौहान की थी। पुलिस ज्ञानेंद्र के घर गई तो उसने बताया कि उसकी बाइक रात में चोरी हो गई थी। पुलिस ने कहा कि उसने रात को इसकी शिकायत क्यों नहीं की। पुलिस ज्ञानेंद्र को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। ज्ञानेंद्र प्रापर्टी डीलर का काम करता है।

पुलिस लाइन में दी जाएगी श्रद्धांजलि
अलीगढ़ के गांव मडैपपुरा थाना पाली अलीगढ़ का रहने वाले शहीद सिपाही सतीश (30) पुत्र रमेश चन्द्र थाना एत्माद्दौला की चौकी फाउन्ड्री नगर मोबाइल पर तैनात थे। इनके साथ हैड कॉस्टेबिल आनन्द, कुलदीप सिंह साथ मृत सतीश यह 2006 के बैच के हैं। ताजगंज पर किराये पर रह थे। दो बेटी हैं। 5 साल, और 2 साल की यह तीन भाईयों में सबसे बड़े थे।
शहीद सिपाही सतीश के शव के पोस्टमार्टम के बाद पुलिस लाइन मे उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी।

About the author

amit tomer

Add Comment

Click here to post a comment




Trending