करियर

क्लोड लिटनर ऐसे इंटरव्यूअर हैं, जिनसे हर कोई ख़ौफ़ खाता है जानें उनकी कही पाँच बातें

क्लोड लिटनर ऐसे इंटरव्यूअर हैं, जिनसे हर कोई ख़ौफ़ खाता है.

ब्रिटेन में ‘बीबीसी वन’ का कार्यक्रम ‘द अप्रेन्टस’ काफ़ी लोकप्रिय है. क्लोड लिटनर इस शो में लॉर्ड शुगर के साथ उन लोगों के इंटरव्यू लेते नज़र आ रहे हैं, जो 2,50,000 पाउंड (करीब 2 करोड़ रुपये) का निवेश जीतना चाहते हैं.

क्लोड बहुत से लोगों के सीवी और योजनाओं की धज्जियां उड़ा चुके हैं. उनसे पूछा गया कि लोगों को जॉब के लिए इंटरव्यू देते वक्त क्या नहीं करना चाहिए.

उन्होंने जो पांच सुझाव दिए, वे इस तरह से हैं:

1. लापरवाही बिल्कुल न बरतें

क्लोड कहते हैं, ”इंटरव्यू के लिए देरी से पहुंचना ठीक नहीं है. दूसरी बात है कंपनी के बारे में रिसर्च न करना. अगर आप इंटरव्यू के लिए जा रहे हैं तो इसे गंभीरता से लें.”

क्लोड कहते हैं, “हो सकता है कि आपसे पहला सवाल यही किया जाए- आप हमारे टर्नओवर के बारे में क्या सोचते हैं? आपको क्या लगता है, हमारी कंपनी कहां जा रही है?”

अगर आपको कंपनी के बारे में कुछ पता नहीं होगा तो आप मुश्किल में हैं.

2. हां-ना में जवाब देने से बचें

क्लोड मानते हैं कि इंटरव्यू में आपका शिष्टाचार या बर्ताव उस शख्स पर आधारित होना चाहिए जो आपसे सवाल कर रहा है.

क्लोड यह सुझाव भी देते हैं कि एक शब्द में जवाब देने से बचना चाहिए. वह कहते हैं, “इससे खराब क्या हो सकता है कि कोई सवाल पूछे और आप सिर्फ ‘हां’ में जवाब दें. इसका सही प्रभाव नहीं पड़ता.”

3. ज़्यादा दोस्ताना रवैया अपनाना सही नहीं

क्लोड मानते हैं कि सीमाओं में रहना ज़रूरी है. उनका कहना है, “दोस्ताना रवैया रखिए मगर बहुत ज़्यादा फ़्रेंडली मत होइए.”

वह कहते हैं, “आपको सवालों का जवाब अपनी पूरी क्षमता के साथ देना चाहिए. ईमानदार रहिए और अपना बेस्ट दीजिए.”

4. जल्दबाज़ी में बाहर न निकलें

क्लोड कहते हैं कि इस बात को याद रखना ज़रूरी है कि इंटरव्यू तब ख़त्म होता है, जब आप कमरे से बाहर निकलते हैं. तब ख़त्म नहीं हो जाता जब सवाल ख़त्म हुए होते हैं.

वह मानते हैं, “बाहर निकलने से पहले कोई कैंडिडेट मुड़कर आपसे कहता है कि मुझे वाकई ये जॉब चाहिए, तो इसकी एक छाप छूट जाती है.”

5. अन्य उम्मीदवारों से अपनी तुलना न करें

आप क्या कर सकते हैं, यह बताना तो ठीक है. मगर दूसरों का ज़िक्र करने की कोई ज़रूरत नहीं है. क्लोड कहते हैं कि इस बात को याद रखें कि आप हमेशा नंबर वन नहीं हो सकते.

वह कहते हैं, “हो सकता है मैंने जॉब के लिए किसी और को चुना हो, मगर बाद में वह उम्मीदों पर खरा न उतरा हो. उस स्थिति में मैं आपको बुला सकता हूं. इसलिए ज़रूरी है कि आप अच्छा प्रदर्शन करें. ये छोटी-छोटी चीज़ें बहुत मायने रखती हैं.”




Trending