Celebrities Entertainment Movies Music करियर बॉलीवुड

शरीर की वजह मुझे ‘ए’ ग्रेड फ़िल्में नहीं मिलीं: ज़रीन खान

सलमान खान के साथ “वीर” फ़िल्म से अपने करियर की शुरुआत करने वालीं ज़रीन खान का कहना है कि उनके वज़न की वजह से उन्हें बड़ी फ़िल्में नहीं मिली क्यूंकि फ़िल्म इंडस्ट्री में अभिनेत्रियों के चुनाव के लिए एक शारीरिक मापदंड है.

बीबीसी के साथ बातचीत में ज़रीन खान ने अपने करियर के बारे में कहा, “करियर के शुरुआत में दिक्कतें हुईं. सलमान खान के साथ मुझे ड्रीम डेब्यू ज़रूर मिला पर मेरा संघर्ष पहली फ़िल्म के बाद शुरू हुआ. मुझसे कहा गया कि मैं एक दूसरी सफ़ल अभिनेत्री की तरह दिखती हूं. लेकिन मेरा वज़न बहुत है.”

मेरा वज़न राष्ट्रीय मुद्दा बना

ज़रीन कहती हैं, “तब मेरा वज़न राष्ट्रीय मुद्दा बन गया था. कुछ साल बाद दूसरी अभिनेत्रियों ने वज़न बढ़ाया तो उन्हें बहुत प्रशंसा मिली तो मुझे क्यों इससे उलट प्रतिक्रियाएं मिलीं.”

वो आगे कहती है, “मुझे हर तरफ़ से आलोचना ही मिल रही थी. मैं कैसी दिखती हूं? कैसे कपड़े पहनती हूं? मेरा घर से निकलना मुश्किल हो गया था. मुझे पता था की अगर कही फ़ोटो खिंच जाएगी तो सिर्फ़ आलोचना ही होगी. मैं डिप्रेस नहीं हो सकती थी. मैंने अपने आप को संभाला क्योंकि मुझपर घर की ज़िम्मेदारी थी.”

“कैरेक्टर ढीला” से मिली नई राह

ज़रीन ने माना की सलमान खान के फ़िल्म में “कैरेक्टर ढीला” आइटम गाने ने उनके करियर को नई राह दी. उन्हें काम मिलना शुरू हुआ. ज़रीन का कहना है कि फ़िल्म इंडस्ट्री में अभिनेत्रियों के लिए शारीरिक मापदंड है और इसी कारण उन्हें बड़ी फ़िल्में नहीं मिली.

वो कहती हैं, “इंडस्ट्री से बहुत सारे लोग बॉडी शेमिंग पर बोलते हैं पर वही लोग अपनी फ़िल्म में आपको कास्ट नहीं करते जब तक आपकी बॉडी परफेक्ट ना हो जाए. दुःख की बात है कि लोग यहां अभिनय से नहीं बल्कि वज़न पर आपका हुनर आंकते हैं. कुछ फ़िल्मकार ये बदल रहे हैं पर अभी भी ऐसे लोग हैं, जो उन अभिनेत्रियों को ही लेते हैं जो शारीरिक रूप से फिट हों और फ़िल्म के लिए आई कैंडी बन सकें.”

उन्होंने माना की उनके शरीर की वज़ह से ही वो “ए” ग्रेड फ़िल्मों का हिस्सा नहीं बन पाई.

ज़रीन के अगली फ़िल्म है “अक्सर 2”

ज़रीन खान का कहना है की उनके करियर में सबसे बड़ा बदलाव इरोटिक थ्रिलर “हेट स्टोरी 3” लेकर आया जिसमें उनकी सुन्दर सुशील छवि को बदल दिया. ज़रीन की अगली फ़िल्म “अक्सर 2” है, उन्होंने साफ़ किया की “अक्सर 2” इरॉटिक थ्रिलर फ़िल्म नहीं है.

वो कहती है कि “किसिंग फ़िल्मों में बहुत आम हो गया है, पर भेदभाव होता है अगर बड़े बैनर की फ़िल्मों में इसे बड़े अभिनेता करते है तो उन्हें “हॉट” कहा जाता है वही हमारे जैसे थोड़े से नीचे के अभिनेता करते हैं तो उसे इरॉटिक नाम दे दिया जाता है.”

अपने करियर के इस पड़ाव पर खुश ज़रीन खान शादी में दिलचस्पी नहीं रखतीं. उनका कहना है कि आजकल की शादियां टिकती नहीं और प्रेम प्रसंग में पड़कर वो अपने करियर से भटकना नहीं चाहतीं.

अनंत महादेवन द्वारा निर्देशित “अक्सर 2” 6 अक्टूबर को रिलीज़ होगी.

BBC

Add Comment

Click here to post a comment




Trending