Education Entertainment करियर मनी

आॅफिस में तमाम टेंशन के बीच बनाएं रखें अपनी गुड परफॉर्मेंस

आजकल आॅफिस में किसी भी सहकर्मी या बॉस से मतभेद होना आम बात है। इसके अलावा अमूमन हर नौकरी में आपको आॅफिस पॉलिटिक्स और नेगेटिव गॉसिप भी देखने-सुनने को मिलेगी। ऐसे माहौल में जॉब में तरक्की पाना काफी चैलेंजिंग होता है। नकारात्मक माहौल आपको हमेशा गुमराह करने और भटकाने की कोशिश करता है। काम का प्रेशर, पॉलिटिक्स, बॉस व सहकर्मी से विचारधारा में मतभेद से आप टेंशन में रहते हैं और इसका असर आपके प्रदर्शन व पर्सनल लाइफ पर पढ़ने लगता है। पर आप चाहे तो इस माहौल से अछूते रह रहकर आॅफिस में लगातार आगे बढ़ सकते हैं। नीचे दिए गए टिप्स आपकी राह आसान करेंगे।

सहकर्मी से हुई कहा-
सुनी को दिल में न रखें
बॉस या सहकर्मी से विचारधारा अलग होने की वजह से कहा-सुनी होना आम बात है। इसका मतलब ये कतई नहीं कि आपको इस पल को अपने दिल में दबाए रखें। किसी भी इश्यू पर अलग अलग मत होना आम बात होती है। ये प्रोफेश्नल लाइफ का हिस्सा होता है। अपनी ईगो को साइडलाइन कर मतभेद को मनभेद न बनने दें। विचारों का अलग-अलग होना स्वभाविक है। उसे अपने व्यवहार में न लाएं। प्रोफेशल बनें और उस कलिग से हमेशा जोशीले अंदाज के साथ मिलें। आपकी मिलनसार छवि और सबके साथ अच्छे संबंध ही आपको प्रमोशन दिलाएंगे।
विनम्र रहें और अच्छे श्रोता बनें
आॅफिस में आपको सहकर्मी की जरूरत पड़ती रहेगी। इसलिए उनके विचारों को ध्यान से सुनें। हो सकता है आपको उनसे काफी सीखने को मिले। अपनी भाषा में शालीनता और शिष्टाचार लाएं। गलती होने पर अपने सीनियर से बहस न करें। गलती मानें और दोबारा न दोहराने की बात करें। अच्छे श्रोता बनें तभी तेजी से सीख पाएंगे और आगे बढ़ पाएंगे।
नकारात्मक विचार न रखें
अकसर आॅफिसों में लोग टीम का माहौल ठीक न होने, सैलरी कम होने, परेशान होकर जॉब चेंज करने की बात करते रहते हैं। आप इन बातों पर ध्यान न दें। नकारात्मकता से दूर रहें। हमेशा मेहनत करें। आप नए हैं इसलिए हो सकता है कुछ नए नए प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी लेने से कतराएं। लेकिन आपको चाहिए कि नई जिम्मेदारियों को आप पूरे आत्मविश्वास के साथ अपने हाथ में लें। अपनी कार्यकुशलता और दक्षता प्रदर्शित करने का यही अच्छा मौका होता है।
आॅफिस पॉलिटिक्स रहें दूर
अधिकांश आॅफिसों में इधर-उधर की बातें, कानाफूसी, गॉसिप आम बात है। लेकिन नई-नई जॉब में आपको इन सबमें उलझने की जरूरत नहीं। किसी और के बारे में जरूरत से ज्यादा न बोलें, क्योंकि वह बात कभी भी तीसरे इंसान तक जा सकती है। अकसर आॅफिसों में लोग टीम का माहौल ठीक न होने, सैलरी कम होने, परेशान होकर जॉब चेंज करने की बात करते रहते हैं। आप इन बातों पर ध्यान न दें। नकारात्मकता से दूर रहें। हमेशा मेहनत करते रहें। एक्टिव, क्रिएटिव रहें और नए-नए आइडियाज अपने बॉस से शेयर करें।
अपने लक्ष्य को प्रभावित न होने दें
माहौल चाहे कितना भी नकारात्मक क्यों न हो, कोई कलिग आपकी टांग खींच रहा हो या यहां तक कि सैलरी न आई हो, आप हतोत्साहित करने वाली इन तमाम बातों से दूर रहें। इनका असर अपने ध्येय पर न पड़ने दें। आॅफिस में जो आपकी जिम्मेदारी है, काम है, उसे अच्छे से करें।

About the author

amit tomer

Add Comment

Click here to post a comment




Trending