राजनीती

बड़े बदलाव की तैयारी: 2018 में ही हो सकते है लोस चुनाव

अगले साल चार राज्यों के विधानसभा चुनावों के साथ लोकसभा चुनाव करने पर विचार कर रही केन्द्र सरकार

नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी ने भले ही कड़े फैसले लिए हों लेकिन अगर पीएम के रूप में देखें तो लोगों की पहली पसंद वे ही हैं। मोदी सरकार का कार्यकाल 2019 में पूरा हो रहा है। वहीं मीडिया रिपोर्ट के अनुसार केंद्र सरकार अगला लोकसभा चुनाव समय से पहले कराने पर विचार कर रही है। चुनाव आयोग अपनी सुविधानुसार चाहे तो चुनाव ‘समय पूर्व’ करवा सकता है। सूत्रों के मुताबिक अगले साल के अंत में होने वाले चार राज्यों के विधानसभा चुनावों के साथ ही साथ 2019 के लोकसभा चुनाव भी करवाए जा सकते हैं।
टाइम्स आॅफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक अधिक से अधिक राज्यों में लोकसभा के साथ ही विधानसभा चुनाव करवाए जाने की संभावनाओं पर चर्चा होनी शुरू हो गई है। उम्मीद जताई जा रही है कि इसके चलते अगले लोकसभा चुनाव साल के अंतिम दो महीनों (नवंबर-दिसंबर 2018) में करवाए जा सकते हैं।

पूर्व राष्ट्रपति मुखर्जी ने भी की थी वकालत
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इस साल गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर देश को संबोधित करते हुए देश में चुनाव सुधारों की वकालत की थी। मुखर्जी ने चुनाव आयोग से कहा था कि वह राजनीतिक दलों के साथ विचार-विमर्श करके दोनों चुनाव साथ कराने के विचार को आगे बढ़ाए।

प्रियंका को कांग्रेस अध्यक्ष बनाना चाहती हैं सोनिया!
नई दिल्ली। क्या सोनिया गांधी अपनी बेटी प्रियंका को कांग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष बनाना चाहती हैं? बीती आठ अगस्त को कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीवीसी) की बैठक के दौरान ऐसा क्या हुआ है, जिसके बाद से कांग्रेस में यह चर्चा जोरों पर चल पड़ी है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सोनिया गांधी ने अपने वरिष्ठ नेताओं से पूछा कि क्या प्रियंका को पार्टी की कार्यकारी अध्यक्ष बना देना चाहिए? सोनिया ने जिन नेताओं से यह बात कही, उनमें पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी शामिल हैं।

Add Comment

Click here to post a comment




Trending