राजनीती

ताज के साथ विश्वविद्यालय से हो आगरा की पहचान: नाईक

सच का उजाला नेटवर्क
आगरा। राज्यपाल रामनाईक का कहना है कि डॉ. बी आर अंबेडकर विश्वविद्यालय सुधार की ओर बढ़ रहा है। तीन साल के कार्यकाल में पहली बार परीक्षाओं और परिणाम की शिकायत नहीं मिली है। वे चाहते हैं कि आगरा की पहचान ताजमहल के साथ विश्वविद्यालय से भी हो। इसलिए इस विश्वविद्यालय के माहौल को लगातार सुधरवाने का प्रयास हैं।
राज्यपाल शनिवार को डॉ. बीआर अंबेडकर विश्वविद्यालय में दो भवनों का शिलान्यास और आॅनलाइन पोर्टल की शुरूआत करने पहुंचे, उस दौरान ये बातें कहीं। विवि के खंदारी स्थिति जेपी सभागार में आयोजित समारोह के दौरान राज्यपाल ने कहा कि डॉ. बीआर अंबेडकर विश्वविद्यालय एक नए इतिहास को लिखने मेंसफल होगा। कार्यक्रम में आए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि विश्वविद्यालय और माध्यमिकमें स्वकेंद्र प्रणाली को खत्म किया जाएगा। शिक्षा के बिना उत्तर प्रदेश की प्रगति संभव नही है इसलिए शिक्षा में परिवर्तन की संभावना से इनकार नही किया जा सकता।
सरकार उत्तर प्रदेश गुणवत्ता परक शिक्षा के लिए चिंतित, प्रदेश सरकार शिक्षा के क्षेत्र में आमूल चूल परिवर्तन लाने के लिए आगे बढ़ रही है । सरकार पठन पाठन के क्षेत्र में शतत प्रयास कर रही है। सरकार शिक्षकों की भर्ती के लिए उत्तरदायी है, इसलिए सेवनिवृत्त शिक्षकों को भी भर्ती कराने का प्रयास होगा। अध्यापकों की नियुक्ति पारदर्शिता के साथ होगी क्योंकि जर्जर इमारत से जर्जर शिक्षा व्यवस्था खराब है। स्वकेंद्र नकल का मूल कारण बन जाता है इसलिए सरकार चाहती है कि सीसीटीवी कैमरों की नजर में परीक्षा होगी। कोई भी व्यक्ति इसके बाद नकल कराता है तो पुलिस उस पर अंकुश लगाएगी।
शोध कार्यों के लिए स्टूडेंट्स को प्रमोट किया जाएगा। औद्योगिक प्रतिष्ठानों और महाविद्यालय के साथ-साथ विश्वविद्यालयों का तारतम्य बनाया जाएगा। शोध कार्यों के लिए पंडित दिन दयाल उपाध्याय के नाम से कोष बनेगा। जीएसटी होगा पाट्यक्रम में शामिल डिप्टी सीएम ने कहा कि अगले साल से जीएस पाठ्यक्रम में शामिल हो सकता है। व्यावसायिक शिक्षा पर सरकार लगाम लगाएगी इसकी शुरूआत माध्यमिक शिक्षा से होगी। शिक्षा प्रणाली को कम्प्यूटरीकृत किया जाएगा और गुणवत्ता लायी जाएगी। टॉप आने वाले की स्टूडेंट कॉपी स्कैन कर वेबसाइट पर डाली जाएगी। इसके लिए निश्चित शुल्क जमा कर कोई भी स्टूडेंट अपनी स्कैन कॉपी ले सकेगा। आॅनलाइन पोर्टल का हुआ शुभारंभ राज्यपाल और डिप्टी सीएम ने मंत्रोच्चार के बीच शिवाजी दीक्षांत मंडल और संस्कृति मंडल का शिलान्यास किया। आॅनलाइन एफिलेशन पोर्टल का भी शुभारंभ किया गया।

शिक्षक चयन में हो पारदर्शिता: दिनेश शर्मा
उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि हमें शिक्षकों के चयन में पारदर्शिता बरतनी चाहिए। अगर हम इस ओर ध्यान देंगे तो हमारा भविष्य भी उज्ज्वल होगा। उनका कहना है कि एक गलत शिक्षक न जाने कितने बच्चों को अंधकार की ओर ले जाएगा। अत: शिक्षक चयन में उनकी कुशलता का भी चयन हो। एक शिक्षक की सर्विस जब तक चलेगी तब तक वह गलत ही शिक्षा देता रहेगा। उन्होंने कहा कि कॉलेजों के संबंध में कोई भी ढिलाई बर्दाश्त नहीं करेंगे।

Add Comment

Click here to post a comment




Trending