राजनीती

अब एअर फोर्स ने चीन से सटे सभी सीमा इलाकों पर चौकसी बढ़ा दी

भारतीय सेना ने चीन से सटे सभी सीमा इलाकों पर चौकसी बढ़ा दी है. इसके साथ ही उत्तर पूर्वी इलाके में एअर फोर्स को ऑपरेशनल निगरानी पर भी रख दिया गया है. डोकलाम पर भारत के खिलाफ चीन के आक्रमक रवैये को देखते हुए सिक्किम से लेकर अरूणाचल प्रदेश तक 1,400 किलोमीटर लंबी सीमा के पास सैनिकों की तैनाती बढ़ाने का फैसला लिया गया है. न्यूज 18 को वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों के सूत्रों से यह जानकारी मिली है. अधिकारीयों ने बताया की स्थिति को देखते हुए सैनिकों की चौकसी का स्तर बढ़ाया गया है.

नाम न बताने की शर्त पर अधिकारियों ने बताया, ‘सिक्किम और अरूणाचल सेक्टरों मे चीन से लगी सीमा पर सैनिकों के चौकसी के स्तर को बढ़ा दिया गया है.

भारतीय थलसेना के सुकना स्थित 33 कोर के साथ-साथ अरूणाचल और असम स्थित 3 और 4 कोर को भारत-चीन की सीमा की रक्षा की जिम्मेदारी सौपीं गई है.

‘आपरेशन से जुड़े ब्यौरे’ का खुलासा न करते हुए सेना के अधिकारियों ने सैनिकों की तैनाती में हुई बढ़ोत्तरी के प्रतिशत को बताने से भी इनकार कर दिया है.

रक्षा विशेषज्ञों के मुताबिक, हालात को मद्देनजर रखते हुए करीब 45,000 जवानों को हर वक्त सीमा पर तैयार रखा जाता है, लेकिन उन्हें तैनात नहीं किया जाता.
डोकलाम में करीब आठ हफ्ते से लगभग 350 जवान तैनात हैं. यह तैनाती उस वक्त से कि गई है जब चीनी सेना को वहां एक सड़क बनाने से रोक दिया गया था.

डोकलाम पर भुटान और चीन के अपने-अपने दांवे हैं और इस मसले के हल के लिए वो बातचीत का भी सहारा ले रहे हैं. चीन कुछ हफ्तों से भारत के खिलाफ आक्रामक बयानबाजी कर रहा है. उसकी मांग है कि भारत डोकलाम से अपनी सेना को हटा ले. खासकर चीन की मीडिया ने डोकलाम मुद्दे पर कई आलेख पर भारत की तीखी आलोचना भी की है.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने हाल ही में बयान दिया था कि दोनों पक्षों में बातचीत सेना हटाने के बाद ही संभव है. उन्होंने सीमा पर गतिरोध को शांतिपूर्ण तरीके से खत्म करने की बात भी कही थी.

Add Comment

Click here to post a comment




Trending