राजनीती

योगी सरकार का आदेश, 15 अगस्‍त को मदरसों में फहराएं तिरंगा और कराएं वीडियोग्राफी

यूपी में अब बीजेपी की सरकार है. योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री हैं. ऐसे में राज्य में स्वतंत्रता दिवस को जोर शोर मनाने की तैयारी जारी है और इस बीच सरकार की ओर से मदरसों के लिए एक आदेश जारी किया गया है. बताया जा रहा है कि इस प्रकार के आदेश मदरसों को लगातार समय समय पर जारी किए जाते रहते हैं.  उत्तर प्रदेश में मदरसा शिक्षा परिषद  की ओर से प्रदेश के सभी मदरसों को पत्र जारी कर स्वतंत्रता दिवस  हर्षोउल्लास से मनाने के निर्देश दिए गए हैं. कहा गया है कि 15 अगस्त को मदरसों में तिरंगा फहराया जाए, राष्ट्रगान भी गाया जाए. यह पत्र 3 जुलाई को उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद की ओर से जारी किया गया है. इसे सभी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को भेजा गया है. पत्र में लिखा है कि प्रदेश के सभी मदरासों में स्वतंत्रता दिवस को हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाए.  पत्र में आगे कहा गया है कि 15 अगस्त को सुबह 8 बजे झंडा रोहण और राष्ट्रगान का समय रखा गया है. इसके बाद 8.10 पर स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों को श्रद्धांजलि देने की बात कही गई है.

इसके अलावा यह भी सलाह दी गई है कि कार्यक्रम में स्वतंत्रता दिवस के महत्व पर प्रकाश डाला जाए, मदरसों के छात्रों द्वारा राष्ट्रीय गीत प्रस्तुत किया जाए, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और शहीदों के बारे में छात्रों को जानकारी दी जाए, राष्ट्रीय एकता पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया जाए.

पत्र में सभी मदरसा संचालकों को कार्यक्रम के वीडियो और फोटोग्राफी कराने के भी निर्देश दिए गए हैं. इसकी वजह ये बताई गई है कि इस कार्यक्रम के फोटोग्राफ और वीडियो से आने वाले समय में भी ऐसे ही कार्यक्रम कराए जा सकेंगे.

यह पत्र उत्तर प्रदेश मदरसा परिषद के रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता की ओर से जारी किया गया है. पत्र जारी करने वाले गुप्ता ने बताया, “यह आदेश सही है. इस तरह का लेटर पहली बार जारी नहीं किया गया है. समय-समय पर इसे जारी किया जाता है. मैं मदरसा शिक्षा परिषद का रजिस्ट्रार हूं तो लेटर जारी करना मेरी जिम्मेदारी है. इसे राजनीति से जोड़कर देखना सही नहीं है.”

‘कई मदरसे फहराते हैं तिरंगा’

उन्होंने कहा- ‘जमीयत उलेमा-ए-हिंद से जुड़े कई मदरसे न सिर्फ तिरंगा फहराते हैं, बल्कि 15 अगस्त और 26 जनवरी को छुट्टी भी रखते हैं। जंग-ए-आजादी में देश के मदरसों की अहम भूमिका रही है। उन पर दबाव बनाना गलत है।’ इसके अलावा उन्होंने आरएसएस के आजादी की लड़ाई से संबंध पर भी सवाल उठाया।

Add Comment

Click here to post a comment




Trending