राजनीती

किसी माई के लाल में हिम्मत नहीं जो मुझे जेल भेज दे: तेजस्वी यादव

जनादेश अपमान यात्रा पर निकले बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश और बीजेपी पर जमकर हमला बोला.

मोतिहारी में जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सिंगल लार्जेस्ट पार्टी होने के बावजूद हमलोगों ने नीतीश जी को मुख्यमंत्री बनाया. लालू जी ने नीतीश कुमार को नेता बनाया. 2015 का जनादेश महागठबंधन को था ना कि किसी व्यक्ति या फिर किसी पार्टी को था.

तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार का अंतरात्मा 4 साल में 4 साल जागा और 4 बार सोया. अगर वो मेरा इस्तीफा मांगते तो हो सकता था महागठबंधन बचाने के लिए मैं इस्तीफा दे देता. नीतीश कुमार में हिम्मत नहीं हुई कि वो हमसे इस्तीफा मांग सके या फिर बर्खास्त कर सके.

उन्होने कहा कि बीजेपी को बताना चाहिए कि क्या आपने करप्शन किया था जो आपको लात मारकर नीतीश कुमार ने बाहर कर किया था. मांझी जी बताएं कि एक दलित व्यक्ति को मुख्यमंत्री पद से क्यों हटाया गया? पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा कि ऐसा कोई सगा नहीं जिसे नीतीश ने ठगा नहीं.

पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा कि बीजेपी को बताना चाहिए कि मुख्यमंत्री नीतीश का डीएनए अच्छा है या खराब और साथ ही सीएम नीतीश को नाखून और बाल म्यूजिम में रखवा देना चाहिए ताकि लोग आपको याद रख सके कि जिसने आपको गाली दी आप उसी के गोद में चले गए.

तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया कि सेंटिंग के तहत नीतीश कुमार ने बीजेपी के साथ मिलकर हमारे घर पर रेड करवाया, झूठा मुदकमा करवाया. लालू जी को केस मुकदमा में फंसाकर जनता के बीच आने से रोका जा रहा है. लेकिन लालू जी आएंगे और इनकी पोल खोलेंगे.

डिप्टी सीएम ने चैलेंज देते हुए कहा कि किसी माई के लाल में औकात नहीं जो उन्हें सजा दे सके. हम जनता से न्याय मांगने के लिए आये हैं. हमको न्याय जनता से चाहिए. नीतीश जी नैतिकता का पाठ पढ़ा रहे हैं जबकि वो खुद आरोपी हैं.

सुशील मोदी पर हमला करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि उन्होंने अपने भाईयों के जरिए बेनामी संपत्ति अर्जित की है लेकिन इनपर रेड नहीं होगा क्योंकि कमल के साबुन से नहाने वाले पाक साफ हो जाते हैं. सुशील मोदी आपको हम छोड़ने वाले नहीं हैं. आपकी बेनामी संपत्ति के सामने जाकर धरना देंगे.

उन्होंने कहा कि आज क्या हाल है. लोकसभा में लालू जी रहते तो पीएम मोदी को बोलने नहीं देते. अगर लालूजी नहीं रहेंगे तो गरीबों की आवाज कौन उठाएगा.

Add Comment

Click here to post a comment




Trending