आगरा

बाइकिंग क्वींस बनी ताज महल की कायल!

सच का उजाला नेटवर्क
आगरा। बादशाह शाहजहां ने अपने प्यार का इजहार करने ताज महल को बनवाया। उस ताज महल की कायल बनती नजर आई 50 महिला बाइकिंग क्वींस। जब ये क्वींस ताज महल के सौंदर्य को अपने आँखों में समाने की हर एक कोशिश करती नजर आई। स्थानीय बाईकर्स ग्रुप रॉयल एनफिल्ड क्लब – आगरा हार्ले ओवनर्स ग्रुप. आगरा के बाईक रायडर्स ने इन क्वींस का सहर्ष स्वागत किया। मौका था महिला सशक्तिकरण का संदेश फैलाने मोटर बाइक पर सवार महिलाओं का समूह 10000 किलोमीटर लंबी यात्रा का जो गुजरात से 19 जुलाई को रवाना हुआ है।
आगरा के सुप्रसिद्ध ताज महल और मेहताब बाग की खूबसूरती की छबी अपने मोबाइल में चित्रित करने की होढ़ इन महिला बायकर्स लगी हुई थी। सूरत स्थित 50 महिला बायकर्स का ग्रुप बाइकिंग क्वींस ने महिला सशक्तिकरण का संदेश फैलाने के लिए गुजरात से 19 जुलाई को शुभारंभ हुई इस यात्रा ने अब तक अर्थात् गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, मध्य प्रदेश, हरियाणा राज्य में तकरीबन 4726 किलोमीटर की यात्रा पूर्ण कर मथुरा तक पहुंचा।
मथुरा में स्थानीय सांसद हेमा मालिनी से मुलकात की। सांसद हेमा ने कहा- बेटी बचाओ, बेटी पढाओ का संदेश के साथ निकाली इन युवतियों पर हमे गर्व है। सशक्त नारी ही देश को एक मजबूत आधार प्रदान कर सकती है। उन्होंने बाइकिंग क्वींस ग्रुप की संस्थापिका डॉ. सारिका मेहता को एक उपहार देकर सम्मानित किया। इस ग्रुप ने वृंदावन बाल विकास मंच के माध्यम से वृंदावन के जरूरतमंद बच्चों को पाठ्य सामग्री तथा बैग वितरित किए। सांसद हेमा मालिनी द्वारा गोद लिए गाव रावल में तकरीबन 100 बच्चों को पुस्तकें, बैग व पढ़ने की सुविधायें मुहैया कराई। उन्हें 15 राज्यों में 5000 से अधिक गांवों के माध्यम से जाना होगा, अर्थात गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, मध्य प्रदेश, हरियाणा राज्यों में मिले अभूतपूर्व प्रतिसाद से प्रेरित हो उठी यह बाईकिंग क्वींस हर रोज एक एक कदम निर्धारित लक्ष्य कि ओर मार्गक्रमण कर रही है। आने वाले 26 दिनों में वह हिमाचल प्रदेश, जम्मू-काश्मीर, दिल्ली, पंजाब और राजस्थान में भ्रमण कर वहां नारी शक्ती का संदेश फैलाएगी।
हर राज्य में वे स्थानीय लोगों से मिलेंगे और महिलाओं के सशक्तिकरण के संदेश को फैलाने होंगे। क्वींस बाइकिंग रैली खार्दूंगला, जो दुनिया में सबसे ऊंचा वाहन योग्य पास हैं, वहां स्वतंत्रता दिवस पर भारतीय झंडा फहराएंगी। वंचित बच्चों की मदद करने के अलावा अधिक से अधिक 9000 शिक्षण किट, सभी राज्यों में वितरित करेंगे। स्वच्छता हमारे जीवन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है, इसे प्रोत्साहित करने के लिए वे इन राज्यों में महिलाओं के लिए स्वच्छता किट भी वितरित करेंगे।