आगरा क्राइम

मां को बेटे और बहुओं ने पीट पीटकर मारा डाला

सच का उजाला नेटवर्क
आगरा। मां ने तहसील दिवस में शिकायत की थी कि उसके बेटे और बहू उसकी जान के दुश्मन बने हुए हैं। एक अगस्त को तहसील दिवस पर दी गई शिकायत में अधिकारियों ने भी नहीं सोचा था कि इसका अंजाम इतना भयावह होगा। अधिकारियों ने संबंधित थाना को कार्रवाई के आदेश दिए थे। इसके बाद पुलिस ने एक बेटे को शांतिभंग में पकड़ा था। इसके बाद दूसरे बेटे ने बहू, भाभी के साथ मिलकर मां को पीट पीटकर मार डाला। इस हत्याकांड के बाद इलाके में सनसनी फैली हुई हैं।
मामला थाना अछनेरा के गांव नगला जौहरी का है। 68 वर्षीय मायादेवी के दो बेट हैं। दोनों बेटे विवाहित हैं। एक बेटे का नाम सूरज और दूसरे का नाम लोकेश है। इनकी बहुओं के नाम पिंकी और राजकुमारी हैं। बताया गया है कि वृद्धा इन सभी की आंखों में खटक रही थी। वृद्ध महिला को आशंका थी कि बेटे और बहू उनकी हत्या कराना चाहते हैं। सूत्र बताते हैं कि वृद्ध महिला को चारों मिलकर अक्सर प्रताड़ित करते थे। उनके साथ मारपीट करते थे। खाने के लिए खाना भी नहीं देते थे। इसके चलते वृद्धा ने एक अगस्त को वृद्धा ने तहसील दिवस में प्रार्थनापत्र दिया था। अधिकारियों ने थाने में इस शिकायत पर कार्रवाई के आदेश दिए थे। शनिवार को पुलिस एक बेटे को पकड़ कर ले गई। पुलिस के जाने के बाद दूसरे ने मां को मार डाला।
बताया गया है कि शनिवार को चौकी इंचार्ज किरावली मायादेवी के घर पहुंचे थे। पुलिस की मौजूदगी में ही सूरज ने मां के साथ अभद्रता की थी। सूरज ने मां के साथ अभद्रता को देखते हुए पुलिस ने उसे शांतिभंग में जेल भेज दिया था। पुलिस सोच रही थी कि मामला अब शांत हो गया है। लेकिन, पुलिस को वृद्ध महिला की हत्या की खबर मिली। मायादेवी की हत्या उनके बेटे लोकेश और बहुओं ने मिलकर दी। मायादेवी के भाई की तहरीर पर पुलिस ने लोकेश, राजकुमारी और पिंकी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।
घटना के बाद से ही हत्यारोपियों का कोई सुराग नहीं है। पुलिस तीनों की तलाश कर रही है। बताया गया है कि कस्बा के गांव नगला जाहरी में मायादेवी की हत्या पत्थरों से कुचलकर की गई और परिवार के सदस्य फरार हो गए।

Add Comment

Click here to post a comment




Trending