राजनीती

वाघेला ने अहमद को नहीं दिया वोट

गांधीनगर. गुजरात की तीन राज्यसभा सीटों के लिए मंगलवार को शंकर सिंह वाघेला ने बीजेपी के फेवर में वोटिंग की। पिछले महीने ही कांग्रेस से इस्तीफा दे चुके वाघेला ने कहा कि उन्होंने अपने अजीज कांग्रेस प्रत्याशी अहमद पटेल  को वोट नहीं दिया क्योंकि वे हार रहे हैं। उन्हें वोट देने का कोई मतलब नहीं है। वाघेला ने दावा किया, ‘कांग्रेस जिन 44 विधायकों पर भरोसा कर रही है, उनमें से भी चार-पांच विधायक पार्टी के समर्थन में वोट नहीं देंगे।’ उनकी यह बात तब सही साबित होती दिखी, जब कांग्रेस के दो विधायक महेंद्र सिंह वाघेला और राघवजी पटेल ने क्रॉस वोटिंग कर दी। महेंद्र सिंह शंकर सिंह वाघेला के बेटे हैं। राज्य में एनसीपी के दो विधायक हैं। इनमें से भी एक ने बीजेपी के फेवर में वोटिंग की।
वोटिंग पर किसने क्या दी प्रतिक्रिया…
1) जीत का भरोसा है : अहमद पटेल
– पांचवीं बार राज्यसभा का चुनाव लड़ रहे सोनिया गाँधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल ने कहा- जब मुझे जीत का भरोसा है तो पार्टी को भी भरोसा है कि हम जीतने वाले हैं। हमें नतीजों का इंतजार है।
– वाघेला और उनके समर्थकों की क्रॉस वोटिंग पर उन्होंने कहा- इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।
– बता दें कि पटेल ने सोमवार को भी कहा था कि कांग्रेस के पास 16 एक्स्ट्रा वोट हैं।
2) मैने कांग्रेस के पक्ष में वोट नहीं दिया : वाघेला
– वाघेला ने यहां वोट डालने के बाद कहा- मैने कांग्रेस के पक्ष में वोट नहीं दिया, क्योंकि अहमद पटेल नहीं जीतने वाले। लिहाजा वोट बर्बाद करने का कोई मतलब नहीं है। हमने कई बार गुजारिश की विधायकों की शिकायतें सुनी जाएं, लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उन्होंने हमारी बात नहीं सुनी। कांग्रेस जिन 44 विधायकों पर भरोसा कर रही है, उनमें से भी चार-पांच विधायक पार्टी के समर्थन में वोट नहीं देंगे।
3) क्रॉस वोटिंग करने वाले विधायक क्या बोले
– कांग्रेस विधायक राघवजी पटेल ने कहा, “मैंने बलवंत सिंह राजपूत को वोट किया। मैं राजनीति में तो रहना चाहूंगा लेकिन कांग्रेस में नहीं। गुजरात में 2 पार्टियां हैं- बीजेपी और कांग्रेस। अगर मैं कांग्रेस में नहीं हूं तो आप समझ सकते हैं कि किस पार्टी में हूं।”
– एनसीपी के एमएलए कंधाल जाडेजा ने कहा, “हमने कल ही सारी बातें साफ कर दी थी। शाम को सबकुछ पता चल जाएगा।” कंधाल ने वोटिंग से पहले अमित शाह से भी मुलाकात की।
तीसरी सीट के लिए दिलचस्प मुकाबला
– गुजरात की तीन राज्यसभा सीटों से बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए बलवंत सिंह राजपूत उम्मीदवार हैं। कांग्रेस से सोनिया गांधी के एडवाइजर अहमद पटेल कैंडिडेट हैं।
– एक सीट पर मुकाबला दिलचस्प है, क्योंकि राजपूत ने अहमद पटेल के खिलाफ बीजेपी की तरफ से नॉमिनेशन फाइल किया है। अहमद पटेल को जीत के लिए 45 वोट चाहिए, लेकिन कुछ विधायकों के इस्तीफे के बाद अब 51 कांग्रेस विधायक बचे हैं। इनमें से 44 विधायकों को कांग्रेस बेंगलुरु ले गई थी। ये सभी सोमवार को ही गुजरात लौट आए। पटेल इन्हें रिसीव करने खुद एयरपोर्ट पर पहुंचे थे।
– बीजेपी के पास 121 वोट हैं। अमित शाह और स्मृति ईरानी का 45-45 वोट के साथ जीतना तय है। मगर, तीसरे कैंडिडेट राजपूत के पास सिर्फ 31 वोट रह जाते हैं। उन्हें जीतने के लिए 14 वोट और चाहिए।

About the author

amit tomer

Add Comment

Click here to post a comment




Trending