इंटरनेशनल

पाक झूठ बोलने की नीति बदले: जनरल एचआर मैकमास्टर(NSA)

वॉशिंगटन.डोनाल्ड ट्रम्प चाहते हैं कि पाकिस्तान आतंकियों को मदद पर झूठ बोलने की अपनी नीति बदले क्योंकि इससे खुद पाक को भारी नुकसान हो रहा है। अमेरिकी NSA (नेशनल सिक्युरिटी एडवाइजर) जनरल एचआर मैकमास्टर ने यह कहा है।

पहली बार सीधे अमेरिकी प्रेसिडेंट ने लगाया आरोप…

– पाकिस्तानी अखबार डॉन की वेबसाइट पर चली खबर के मुताबिक जनरल मैकमास्टर ने शनिवार को एक रेडियो इंटरव्यू में पाकिस्तान को लेकर अमेरिकी प्रेसिडेंट ट्रम्प का नजरिया जाहिर किया है।
– बता दें कि यूएस ऑफिशियल्स पाकिस्तान पर अक्सर आतंकियों की मदद करने का आरोप लगाते रहे हैं। हालांकि इस्लामाबाद जोरदार तरीके से इसका खंडन करता रहा है, लेकिन ये पहली बार है कि आतंकियों को मदद का आरोप सीधे प्रेसिडेंट ट्रम्प की तरफ से लगाया गया है।
बर्ताव में बदलाव देखना चाहते हैं ट्रम्प
– जनरल मैकमास्टर ने कहा, “प्रेसिडेंट ट्रम्प ने साफ तौर पर यह भी कहा है कि अमेरिका इस इलाके में उन लोगों के बर्ताव में बदलाव देखना चाहता है जो तालिबान, हक्कानी नेटवर्क और अन्य आतंकी संगठनों को सुरक्षित जगह और मदद मुहैया करा रहे हैं।”
– मैकमास्टर बोले, “खासतौर पर ये पाकिस्तान की तरफ इशारा है और हम वाकई में आतंकी संगठनों को मदद में कमी और इसे लेकर पाक की नीति में बदलाव देखना चाहते हैं। मेरा मतलब है कि ऐसा झूठा माहौल बनाने से खुद पाक को ही भारी नुकसान हो रहा है। इन आतंकी संगठनों के खिलाफ उसने अब तक गिने-चुने कदम ही उठाए हैं।”
अफगानिस्तान पर ट्रम्प के फैसले का बचाव
– मैकमास्टर ने इस दौरान अफगानिस्तान में जंग जीतने के मसले पर ट्रम्प की स्ट्रैटजी का भी बचाव किया, जिसके तहत इस युद्ध ग्रस्त देश में अमेरिकी सेना को असीमित अधिकार दिए गए हैं। ट्रम्प के फैसले पर मैकमास्टर ने कहा, “प्रेसिडेंट ने कहा है कि वे मिलिट्री पर किसी किस्म का प्रतिबंध नहीं चाहते क्योंकि इससे जंग जीतने की उसकी क्षमता पर असर पड़ता है। इसीलिए उन्होंने मिलिट्री पर लगे सारे प्रतिबंध हटा लिए हैं और अब आप इसके नतीजे भी देख सकते हैं।”
ट्रम्प ने अपने जनरलों को लगाई थी फटकार
– अमेरिकी मीडिया में हाल ही में ये रिपोर्ट आई थी कि 19 जुलाई की मीटिंग में ट्रम्प ने अपने जनरलों को अफगानिस्तान में जंग नहीं जीतने को लेकर फटकार लगाई थी और उन्हें इसे 16 साल तक जारी रखने की इजाजत भी दे दी है। मीटिंग में ट्रम्प ने नेशनल सिक्युरिटी कंसल्टेंट्स की टीम की भी आलोचना की थी। यह टीम अफगानिस्तान में फेल रहने के बाद नई स्ट्रैटजी पर काम कर रही थी।

About the author

amit tomer

Add Comment

Click here to post a comment




Trending