इंटरनेशनल

भारत के खिलाफ छोटे सैन्य आॅपरेशन की तैयारी में चीन: चीनी अखबार का दावा

पेइचिंग, एजेंसी। डोकलाम में विवाद की वजह से सीमा पर डटे भारतीय जवानों को ‘खदेड़ने’ के लिए चीन एक ‘छोटा सैन्य आॅपरेशन’ करने के बारे में सोच रहा है। चीन के एक सरकारी अखबार में एक्सपर्ट के हवाले से यह दावा किया गया है। बता दें इस विवादित क्षेत्र में चीन द्वारा सड़क बनाने की कोशिश के बाद 16 जून से ही भारतीय जवान सीमा पर तैनात हैं।
ग्लोबल टाइम्स ने शंघाई अकैडमी आॅफ सोशल साइंसेज के इंस्टिट्यूट आॅफ इंटरनैशनल रिलेशंस में रिसर्च फेलो हू जियोंग के विचार प्रकाशित किए हैं। उन्होंने कहा है, ‘सीमा पर दोनों देशों की सेनाओं के बीच लंबे वक्त तक यह तनातनी चीन नहीं चलने देगा। भारतीय टुकड़ी को खदेड़ने के लिए दो हफ्तों के भीतर एक छोटे मिलिटरी आॅपरेशन को अंजाम दिया जा सकता है।’ आगे लिखा है, ‘चीनी पक्ष इस आॅपरेशन को अंजाम देने से पहले भारतीय विदेश मंत्रालय को जानकारी देगा।’
बता दें कि इस मामले के शांतिपूर्ण निपटारे के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि दोनों पक्षों को पहले विवादित क्षेत्र से सेनाएं हटानी चाहिए। इसके बाद ही कोई बातचीत होगी।

चीन और भारत के बीत भाई-बहन का रिश्ता
चीन के कॉन्सुल-जनरल मा झानवू ने कहा है, “बॉर्डर पर शांति और धैर्य बनाए रखना दोनों देशों के लिए अहम है और हमें आपसी हितों पर फोकस करना चाहिए।” झानवू ने ये भी कहा, “चीन-भारत का रिश्ता भाई-बहन की तरह है, इसलिए मतभेद तो होंगे ही, लेकिन हमारे आपसी हित ज्यादा महत्वपूर्ण हैं।” झानवू ने शुक्रवार को यह कमेंट किया।

चीनी मीडिया में भड़काऊ लेखों की झड़ी
भारत भले ही शांति बरतने की अपील कर रहा हो, लेकिन चीनी मीडिया और खास तौर पर ग्लोबल टाइम्स ने भड़काऊ लेखों की झड़ी लगा दी है। इनके जरिए भारत को बार-बार जंग की धमकी दी जा रही है। शनिवार के लेख में रिसर्चर ने चीन की ओर से तिब्बत में किए सैन्य अभ्यास का भी जिक्र किया। रिसर्चर ने लिखा है, ‘भारत ने हाल के सालों में चीन को लेकर अपरिपक्व नीति अपनाई है। उसके विकास की रफ्तार चीन के स्तर का नहीं है। भारत इस इलाके में सिर्फ विवाद चाहता है जिसका हकीकत में विवाद से कोई नाता नहीं है। इसके पीछे मंशा चीन के साथ सौदेबाजी करना है।’

Add Comment

Click here to post a comment




Trending