आगरा यात्रा

आगरा में एयरपोर्ट का मुद्दा पहुंचा हाईकोर्ट

सच का उजाला नेटवर्क
आगरा। पीएम और सीएम के वादे के बावजूद सिविल एयरपोर्ट पर कार्रवाई न होने से नाराज सिविल सोसायटी इलाहाबाद हाईकोर्ट पहुंच गया है। अब चीफ जस्टिस ने इस मामले में राज्य सरकार और एयरपोर्ट अथॉरिटी से दो सप्ताह में जवाब देने को कहा है।
सिविल सोसायटी आॅफ आगरा के महासचिव अनिल शर्मा ने कहा, कोई विकल्प न होने की वजह से कोर्ट में जाने का निर्णय लेना पड़ा है। प्रधानमंत्री पद के लिए घोषित दावेदार के रूप में नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2014 में जनसभा में आगरा में इंटरनेशनल एयरपोर्ट सिविल आगरा एन्कलेव के लिए वायदा कर चुके हैं। भाजपा की सरकार बनने के बाद भी कुछ नहीं हुआ, इसलिए लड़ाई अब कोर्ट पहुंची है। उन्होंने कहा कि सिविल एन्कलेव आगरा में सरकार को बनाना है या नहीं अब यह शासन को इलहाबाद हाईकोर्ट में स्पष्ट करना होगा। सिविल सोसायटी आगरा की ओर से दायर याचिका इलहाबाद हाईकोर्ट ने स्वीकार कर यूपी सरकार और एयरपोर्ट अथॉरिटी आॅफ इंडिया सहित तीन अन्य औपचारिक सरकारी एजेंसियों/विभागों को नोटिस जारी कर जबाव दाखिल करने को निर्देश जारी किया है। सिविल सोसायटी आगरा के अध्यक्ष डॉ. शिरोमणी सिंह, जनरल सैकेट्री अनिल शर्मा की ओर हाईकोर्ट के सीनियर एडवोकेट अकलंक कुमार जैन के द्वारा दायर की गई है।
याचिका में सरकार के द्वारा आगरा में नए सिविल एन्कलेव को बनाए जाने के लिए 64 करोड की राशि अपने वायदे के बावजूद अवमुक्त न किये जाने का मुद्दा मुख्य रूप से उठाया गया है। इसमें मांग की गई है कि इस अवशेष राशि को अविलम्ब अवमुक्त किया जाये जिससे कि सिविल एन्कलेव को बनाये जाने के लिये जमीन अधिग्रहण हो सके।
अनिल शर्मा ने बताया कि याचिका में कहा गया है कि नरेंद्र मोदी आगरा में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनवाने की घोषण के बाद प्रधानमंत्री बनकर दो बार आ चुके हैं। लेकिन सिविल एन्कलेव पर कुछ नहीं कहा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी आगरा दौरे के दौरान 64 करोड़ कि राशि सिविल एन्कलेव के लिये आवंटित करने की बात कही थी, लेकिन यह भी नहीं हुआ।
बजट सत्र भी बीत चुका लेकिन एक भी पैसा आवंटित नहीं हुआ। झूठ पर झूठ बोलकर जनता को दिगभ्रमित करने की जो कोशिशें अब तक रही है कम से कम वे तो समाप्त होंगी। कोई जिम्मेदार व्यक्ति कोर्ट में तो झूठ नहीं बोलेगा। हमारी मांग है कि अगर सरकार की मंशा आगरा में सिविल एन्कलेव को बनावाने की है तो फिर धन अवमुक्त किया जाये।

– सि?वि?ल सोसायटी के अध्?यक्ष एवं नगर नि?गम आगरा के पार्षद डॉ. शिरोमणी सिंह ने कहा है कि? प्रदेश सरकार हो या राज्?य सरकार जनता के बीच जि?स प्रकार से गलत बयानी कर रही हैं उसके बाद न्?यायपालि?का का दरवाजा खटाखटाने के अलावा रास्?ता नहीं बचता है।

About the author

amit tomer

Add Comment

Click here to post a comment




Trending