आगरा ज्योतिष

‘मेरे भैया’ नहीं अब छोटा भीम और डोरेमॉन का जमाना

सच का उजाला नेटवर्क

आगरा। रक्षाबंधन पर्व में अब सिर्फ कुछ ही घंटों का शेष है। हर त्योहार की तरह आधुनिकता इस त्योहार पर भी सिर चढ़कर बोलने लगी है। भाइयों की कलाइयों पर कभी चार चांद लगाने वाली ‘मेरे भैया’ राखियां बाजार में लगभग पूरी तरह से नदारद हो गई हैं और इनकी जगह ले ली है काटॅून कैरेक्टर छोटा भीम और डोरेमोन जैसे रािखयों ने।
बाजार में राखियों की दुकानें सज चुकी हैं। इस बार राखियों में बच्चों को लुभाने के लिए छोटा भीम और डोरेमोन ने धूम मचा रखी है। वहीं वर्षों से चली आ रही मेरे भैया प्रिंट वाली राखी अब बाजार में दिखाई नहीं दे रही है। विक्रेता शहर के हर वर्ग के विक्रेता का ध्यान रखते हुए राखियां लेकर आए हैं। बाजार में 5 रुपये से लेकर 350 रुपये की तक राखी मौजूद है।

भाई-बहन के प्रेम का पर्व रक्षाबंधन भी हुआ हाईटेक, सोने-चांदी की भी हैं राखियां
न्यू आगरा में राखियों की दुकान लगाने वाले एक दुकानदार ने बताया कि इस बार राखियों का मार्केट अच्छा है। बच्चे ज्यादातर अपने फेवरेट कार्टून वाली राखियां ही पसंद कर रहे हैं, इसलिए बाजार में बच्चों के लिए छोटा भीम और डोरी मोन वाली राखियां आयी हुई हैं। राखियों में बड़ों के लिए एडी और कुंदन की राखियों का क्रेज सबसे ज्यादा है।
इन राखियों की कीमत 200 से 350 रुपये है। इनकी कीमत इन राखियों की चैन के ऊपर हो रहे गोल्डन कलर की बजह से है। ये कलर काफी समय तक राखियों से उतरता नहीं है। राजामंडी,सदर बाजार, न्यूआगरा, घटिया, सेन्ट जौन्स, फब्वारा आदि बाजारों में राखियों की दुकाने सजी हुयी हैं। राखी विके्रता मनोज कुमार ने बताया कि मार्केट में ज्यादा तर उन्हीं राखियों की सप्लाई होती है जो क्रेज को देखते हुए आती हैं। इस बार साधारण राखियां 5 रुपये से लेकर 50 रुपये तक हैं। इनमें बच्चों की राखियां भी शामिल हैं। 350 रुपये वाली राखी में गोल्डन कलर आ रहा है। ब्रेसलेट टाइप राखियां को लोग खूब पसंद कर रहे हैं। इसके अलावा अपनी जेब के अनुसार लोग 2000 रुपये से 5000 रुपये तक में सोने की राखियां बनवा रहे हैं।




Trending