क्राइम

घाटी में मेज़र समेत 2 शहीद, कुलगाम में 2 आतंकी ढेर

श्रीनगर.कश्मीर के शोपियां में गुरुवार सुबह आर्मी के काफिले पर आतंकियों ने हमला कर दिया। इसमें एक मेजर और एक जवान शहीद हो गया। वहींं, एक जवान जख्मी है। ऐसा कहा जा रहा है कि हमले के बाद ये आतंकी भाग निकलने में कामयाब रहे। आर्मी इनकी तलाश कर रही है। उधर, साउथ कश्मीर के कुलगाम में जवानों ने एक दूसरे एनकाउंटर में दो आतंकवादियों को मार गिराया है। इससे पहले, मंगलवार को आर्मी को तब बड़ी कामयाबी मिली थी, जब उसने पुलवामा में लश्कर के कश्मीर चीफ अबु दुजाना को ढेर कर दिया था। आतंकवादियों ने घात लगाकर किया हमला…
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, 3 आतंकवादियों ने सेना के काफिले पर फायरिंग की। इसमें एक मेजर और दो जवान जख्मी हो गए। इन्हें फौरन हॉस्पिटल ले जाया गया, लेकिन मेजर और एक जवान की जान जा चुकी थी। एक जवान का अभी भी इलाज चल रहा है।
– मेजर का नाम कमलेश पांडे है। ये 62 राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात थे।
– मिलिट्री सूत्रों के मुताबिक, आतंकियों ने आर्मी के काफिले पर हमला तब किया जब पांडे अपनी टीम के साथ सर्च ऑपरेशन चला रहे थे। जानकारी मिलने के बाद पांडे एक गांव की तरफ बढ़े, तभी इन आतंकियों ने हैवी फायरिंग शुरू कर दी।
कुलगाम में दो आतंकी ढेर
दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में आज तड़के सुरक्षा बलों के साथ एनकाउंटर में दो आतंकवादी मारे गये।
– डिफेंस मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन लेफ्टिनेंट कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि सिक्युरिटी फोर्सेस को जिले में आतंकवादी के बारे में जानकारी मिली थी। उसके बाद सुरक्षा बलों ने जिले के गोपालपोरा में घेराबंदी कर दो आतंकवादियों को सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन इन्होंने गोलियां चलानी शुरू कर दी। सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की, जिसमें दोनों आतंकवादी मारे गये।घटनास्थल से दो हथियार मिले हैं। आतंकवादियों के खिलाफ अभियान खत्म गया है। मारे गये आतंकवादियों की पहचान की जा रही है।
कश्मीर में 7 महीने में 109 आतंकी ढेर, हर दिन हुई एक आतंकी वारदात
– कश्मीर और आतंकवाद पर होम मिनिस्ट्री की चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, कश्मीर में 7 महीनों में औसतन हर दिन एक आतंकी वारदात हुई है। रिपोर्ट में कहा गया कि 7 महीनों में मारे जाने वाले आतंकियों की तादाद 109 है, जो कि इस दशक में सबसे ज्यादा है। इससे पहले 2016 में 150 आतंकी मारे गए थे, लेकिन ये आंकड़ा पूरे साल का था।
– रिपोर्ट के मुताबिक, अगर पिछले साल हुई आतंकी वारदातों से तुलना करें तो इस साल 23 जुलाई तक इनमें 25 पर्सेंट तक का इजाफा भी दर्ज किया गया है। 1 जनवरी से लेकर 23 जुलाई के बीच घाटी में 184 हिंसक आतंकी वारदातें हुई हैं।
– पिछले साल इसी समयसीमा के भीतर ऐसी 155 वारदातें हुई थीं, जबकि 2016 में ऐसी कुल 322 आतंकी वारदातें हुई थीं। 2015 में 208 और 2014 में ऐसी 222 आतंकी वारदातें हुई थीं।
आर्मी को मिली बड़ी कामयाबी: लश्कर आतंकी दुजाना को मारा गिराया
– मंगलवार को सिक्युरिटी फोर्सेस ने पुलवामा के हाकरीपोरा में एनकाउंटर में अबु दुजाना समेत 2 आतंकियों को मार गिराया था। दुजाना पाक के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के गिलगित-बाल्तिस्तान का रहने वाला था और लश्कर-ए-तैयबा से जुड़ा था। दुजाना ए कैटेगरी का आतंकी था। उस पर 10 लाख का इनाम था। 2013 में आतंकी अबु कासिम की मौत के बाद दुजाना को कमांडर बनाया था। उसने कश्मीर में कई हमलों को अंजाम दिया था।
– जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पाक हाईकमीशन से कहा है कि वे अपने नागरिक (आतंकी अबु दुजाना) की बॉडी ले जाएं। आर्मी ने अब उसे किसी सीक्रेट जगह पर दफन कर दिया है।

About the author

amit tomer

Add Comment

Click here to post a comment




Trending