हेल्थ

क्या आप भी बर्थडे पर कैंडल्स बुझाते हैं?

नई दिल्ली: बर्थडे केक पर कैन्डल बुझाने की रीत तो सालों से चली आ रही है. सभी बड़ी खुशी-खुशी केक पर लगी मोमबत्तियों को बुझाकर फिर केक काटते है लेकिन क्या आप जानते है हाल में आई रिसर्च के मुताबिक, केक पर लगी मोमबत्तियों को फुंक मारने से केक बैक्टीरिया से भर जाता है.

साउथ कैरोलिना की क्लेमसन यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने कहा की बर्थडे केक पर लगी कैन्डल्स बुझाते समय केक पर थूक फैल जाता है जिसके कारण केक पर 1,400% बैक्टीरिया बढ़ जाता है.

इस रिसर्च को करने वाले डॉ डावसन और उनकी टीम ये बात पता चलने पर हैरान हो गई थी और साथ ही फूड सेफ्टी को लेकर एक चिंता का विषय बताया.

एक्सपेरिमेंट के दौरान ये पता चला कि कैंडल बुझाते ही केक पर बैक्टीरियां की ग्रोथ विशाल रूप से बढ़ने लगी. डॉ डावसन ने सुझाव देते हुए कहा कि केक पर कैंडल्स लगाना ही बंद कर देना चाहिए.

विज्ञानिकों का मानना है कि बर्थडे पर केक पर लगी कैंडल्स को बुझाना बहुत आम बात है और अगर ये इतनी गंभीर समस्या थी तो इस बात पर हल्ला हो सकता है.

इंसानों का मुहं बैक्टीरिया से भरा होता है. हालाकिं इनमें से ज्यादातर बैक्टीरिया हानिकारक नहीं होते है.

डॉ डावसन का कहना है कि अगर कोई बीमार कैंडल्स को बुझा रहा है तो केक खाना एवॉयड करें.

About the author

amit tomer

Add Comment

Click here to post a comment




Trending