22 साल में ही बन गए थे IPS, इस प्लान को फॉलो कर बनाई मस्कुलर बॉडी

Spread the love

Please follow and like us:

  • 4
  • Share
भोपाल/सागर.IPS सचिन अतुलकर फिटनेस के मामले में पुलिस डिपार्टमेंट के अफसर-कर्मचारियों के आइकॉन हैं। इन दिनों वे एसपी सागर के पद पर पदस्थ हैं। सचिन मात्र 22 साल की उम्र में IPS बन गए थे। वे जहां भी जाते हैं युवक-युवतियां उनसे सेल्फी की रिक्वेस्ट करने लगते हैं। वे इतने बिजी शेड्यूल में भी अपनी फिटनेस को रेग्युलर टाइम देकर एक्सरसाइज करते हैं और ओकेजनली योगा भी करते हैं यही उनकी फिटनेस का राज है। वे हमेशा दूसरों को भी फिट रहने के लिए प्रेरित करते हैं। 21 जून योग-डे के मौके पर आपको सबसे फिट IPS के बारे में बता रहा है।पहले ही अटेंप्ट में बन गए थे IPS…
– सचिन अतुलकर 2007 बैच के पासआउट हैं और वे मात्र 22 साल की उम्र में बने IPS बन गए थे।
– उनके मुताबिक उन्होंने ग्रेजुएशन के बाद किया अटेंप्ट किया और पहली बार में ही सफल हुए।
– IPS सचिन का जन्म भोपाल में हुआ था। उनके पिता फॉरेस्ट सर्विस से रिटायर और भाई मिलिट्री में है।
– वे 1999 में राष्ट्रीय लेवल पर क्रिकेट खेल चुके हैं औऱ उन्हें 2010 में गोल्ड मेडल भी मिल चुका है।
रोजाना एक्सरसाइज करते हैं IPS सचिन

– IPS सचिन के अनुसार जब वे IPS तो उन्होंने अपनी फिटनेस पर भी ध्यान दिया और आज वे सभी के लिए मिसाल बन गए हैं।
– जब बॉडी बिल्डिंग को चुना तो उसके लिए उन्हें एक कोच का गाइडेंस मिला जिससे वे परफेक्ट बॉडी बनाने में सफल हुए। वे रोजाना एक्सरसाइज करते हैं और ओकेजनली योगा भी करते हैं।
– उनके अनुसार, एक्सरसाइज करने से स्ट्रेस दूर होता है और माइंड भी फ्रेश रहता है जिससे वे और अच्छे से अपनी ड्यूटी कर पाते हैं।
– IPS सचिन ने ये भी कहा कि बॉडी बिल्डिंग से एक अच्छे व्यक्तित्व, माइंड और बॉडी को डेवलप करता है।

इस शेड्यूल को फॉलो करके बनाई मस्कुलर बॉडी
– IPS सचिन अपनी फिटनेस के लिए 7 दिन में इस प्लान फॉलो करते हैं और इसी के मुताबिक एक्सरसाइज करते हैं।
1 day – चेस्ट और ट्राइशेप एक्सरसाइज करते हैं।
2 day – बैक और ट्राइशेप की एक्सरसाइज करते हैं।
3 day- कुछ कार्डियो की भी एक्सरसाइज को शामिल करते हैं।
4 day- लेग्स के लिए स्ट्रेचिंग और रिलेक्सिंग करते हैं।
5 day- कुछ कार्डियो एक्सरसाइज करते हैं।
6 day- इस दिन अपने शरीर के सबसे वीक पार्ट को कुछ समय देते हैं।
7 day- इस दिन कुछ नहीं करते, माइंड और बॉडी को रिलेक्स देते हैं।
हॉर्स राइडिंग में जीत चुके हैं गोल्ड
– 8 अगस्त 84 में भोपाल में जन्मे सचिन की पारिवारिक पृष्ठभूमि भी हेल्थ कॉन्सियश रही है।
– स्कूल में पढ़ाई के साथ ही साथ सचिन स्पोर्टस में भी अच्छे रहे।
– खेल में विशेष रुचि के चलते वर्ष 1999 में सचिन ने क्रिकेट में राष्ट्रीय स्तर पर खेला।
– क्रिकेट के अलावा IPS ट्रेनिंग के दौरान हार्स राइडिंग को अपना शौख बनाया। यही वजह रही कि वर्ष 2010 में हॉर्स राइडिंग के राष्ट्रीय स्तर पर शो जंपिंग में अतुल को गोल्ड मेडल से नवाजा गया।

Please follow and like us:

  • 4
  • Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *